UPPCS PCS Syllabus & Exam Pattern in Hindi 2021

UPPCS PCS Syllabus & Exam Pattern in Hindi

Table of Contents

 प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा (UP PSC Prelims and Mains Syllabus in Hindi)

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने हाल ही में संयुक्त राज्य / ऊपरी अधीनस्थ सेवाओं (पीसीएस) के पदों के लिए योग्य उम्मीदवारों से ऑनलाइन आवेदन मांगे हैं। इसके लिए काफी सारे उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन करेंगे। more syllabus notification click here

ऐसे में इस लेख के जरिये आज हम UPPSC Syllabus In Hindi और UPPSC Exam Pattern के बारे में जानकारी देंगे।

संस्था का नामUttar Pradesh Public Service Commission
पद का नामCombined State / Upper Subordinate Services (PCS)
Selection Processप्राथमिक परीक्षा – (बहुविकल्पीय)
मुख्य परीक्षा – (लिखित परीक्षा)
साक्षात्कार
आधिकारिक वेबसाइटCLICK HERE

UPPSC PCS Syllabus – UPPSC Exam Pattern

UPPSC PCS Exam Pattern

परीक्षा का नामपरीक्षा का प्रकारMarks
UPPSC Prelims (प्रारंभिक परीक्षा)पेपर- 1 – सामान्य अध्ययन- I

पेपर- 2 – सामान्य अध्ययन – II (CSAT)
पेपर- 1: 150 प्रश्न

पेपर- 2: 100 प्रश्न
UPPSC Mainsसामान्य हिंदी

निबंध

सामान्य अध्ययन -I

सामान्य अध्ययन -II

सामान्य अध्ययन -III

सामान्य अध्ययन -IV

वैकल्पिक विषय पेपर -1

वैकल्पिक विषय पेपर -2
सामान्य हिंदी – 150 अंक
निबंध – 150 अंक

सभी सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र और वैकल्पिक विषय के पेपर 200 अंकों के होंगे

कुल – 1500 अंक
UPPSC Interviewब्यक्तित्व परीक्षण/साक्षात्कार100 अंक

UPPSC Syllabus – UPPSC Pre Exam Pattern

UPPSC Pre Exam Pattern नीचे दिया गया है। UPPSC प्रीलिम्स में दो पेपर होते हैं – पेपर I पेपर II, दोनों प्रश्नपत्र बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQs) के साथ प्रत्येक पेपर 200 अंकों के होंगे। परीक्षा दिन आयोजित होगी, तथा दोनों पेपरों की अवधि 2 घंटे की होगी।

परीक्षा का नामUPPSC PCS Preliminary Exam
पेपर्स की संख्यापेपर 1 – सामान्य अध्ययन

Paper 2 – सामान्य अध्ययन II (CSAT)
परीक्षा की अवधिदोनों पेपर एक ही दिन आयोजित किए जाएंगे।

पेपर- 1 – 9.30 AM – 11.30 AM तक

पेपर- 2 – 2.30 PM – 4.30 PM तक
अधिकतम अंकदोनों पेपर 200 अंकों के होंगे।
प्रश्नों की संख्यापेपर- I: 150 प्रश्न

पेपर- II: 100 प्रश्न
परीक्षा का प्रकारऑफ़लाइन (पेन-पेपर) ओएमआर शीट
प्रश्नों का प्रकारसभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे (MCQs)

NOTE-:

  • मुख्य परीक्षा में पहले दो पेपर सामान्य अध्ययन के होते थे. अब चार पेपर सामान्य अध्ययन के होंगे > GS Paper 1, GS Paper 2, GS Paper 3, GS Paper 4. प्रत्येक पेपर के मार्क्स 200 होंगे यानी दूसरे शब्दों में कहा जाए तो सामान्य पेपर के टोटल मार्क्स 200+200+200+200 = 800 MARKS होंगे.
  • हिंदी और निम्बंध के पेपर में कोई बदलाव नहीं आया है.  उनके अंक यथावत् 150-150 ही रहेंगे.
  • 2018 के पहले मेंस परीक्षा में  दो वैकल्पिक विषय होते थे, लेकिन पीसीएस 2018 परीक्षा में मेंस में सिर्फ एक वैकल्पिक विषय कर दिया गया जो 2019 में भी लागू रहेगा. 2018 के पहले दो वैकल्पिक पेपर के मार्क्स 400+400 थे…2021 में एक वैकल्पिक विषय का ही चयन करना है तो वैकल्पिक विषय का टोटल मार्क्स हुआ = 400 ONLY.
  • इसके अलावा आयोग ने पीसीएस के इंटरव्यू के टोटल मार्क्स में भी बदलाव किया है. पहले इंटरव्यू का total marks 200 अंक था अब परीक्षा में इंटरव्यू का कुल मार्क्स 100 ही होगा.
  • इस प्रकार चयन प्रक्रिया का टोटल मार्क्स देखा जाए तो कुल मिला कर होगा = 1600 Marks (800 GS + 300 HinEng + 400 OS + 100 INT)
  • सिलेबस के नए बदलाव में सहायक वन संरक्षक Assistant Conservator of Forests (ACF) का पद पहली बार UPPSC में शामिल किया गया है. वैसे ज्ञातव्य है कि इस पोस्ट के लिए और UPPSC के बाकी पदों के लिए जो प्रारम्भिक परीक्षा होगी वह एक ही होगी. बाद में जाकर मुख्य परीक्षा को अलग-अलग आयोजित किया जाएगा. इसी तरह UPPSC-2018 में एक नए subject चिकित्सा विज्ञान (medical science) को मुख्य परीक्षा में डाला गया है.
  • प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.33% की नेगेटिव मार्किंग होगी
  • जैसे, यदि किसी प्रश्न के लिए आवंटित अधिकतम अंक 2 है, तो इसका गलत उत्तर देने पर 0.66 अंक काट लिया जाएगा
  • प्रश्न को खाली छोड़ने के लिए कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं है।
  • पेपर 2 (CSAT) UPPCS / PCS प्री पेपर में एक क्वालिफाइंग पेपर है, जिसमें उम्मीदवारों को न्यूनतम 33% अंक प्राप्त करना होगा।

UPPSC Prelims Syllabus

UPPSC Prelims Syllabus की जानकारी निम्नलिखित है –

  • राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनायें
  • भारत का इतिहास एवं भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन
  • भारत एवं विश्व का भूगोल- भारत एवं विश्व का भौतिक, सामाजिक एवं आर्थिक भूगोल
  • भारतीय राजनीति एवं शासन- संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, लोकनीति, अधिकारिक मुद्दे (राइट्स इश्यूज) आदि
  • आर्थिक एवं सामाजिक विकास-सतत विकास, गरीबी, अन्तर्विष्ट जनसांख्यिकीय, सामाजिक क्षेत्र के इनिशियेटिव आदि
  • पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी सम्बन्धी सामान्य विषय, जैव विविधता एवं जलवायु परिवर्तन इस विषय में विषय विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं है
  • सामान्य विज्ञान

राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनायें

राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाओं पर अभ्यर्थियों को जानकारी रखनी होगी।

भारत का इतिहास एवं भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन

 इतिहास के अन्तर्गत भारतीय इतिहास के सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक पक्षों की व्यापक जानकारी पर विशेष ध्यान देना होगा। भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन पर अभ्यर्थियों से स्वतंत्रता आन्दोलन की प्रकृति तथा विशेषता, राष्ट्रवाद का अभ्युदय तथा स्वतंत्रता प्राप्ति के बारे में सामान्य जानकारी अपेक्षित है

भारत एवं विश्व का भूगोल-

भारत एवं विश्व का भौतिक, सामाजिक एवं आर्थिक भूगोलः विश्व भूगोल में विषय की केवल सामान्य जानकारी की परख होगी। भारत का भूगोल के अन्तर्गत देश के भौतिक, सामाजिक एवं आर्थिक भूगोल से सम्बन्धित प्रश्न होंगे।

भारतीय राजनीति एवं शासन-संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, लोकनीति, आधिकारिक प्रकरण आदिः 

 भारतीय राज्य व्यवस्था, अर्थव्यवस्था एवं संस्कृति के अन्तर्गत देश के पंचायती राज तथा सामुदायिक विकास सहित राजनीतिक प्रणाली के ज्ञान तथा भारत की आर्थिक नीति के व्यापक लक्षणों एवं भारतीय संस्कृति की जानकारी पर प्रश्न होंगे।

आर्थिक एवं सामाजिक विकास- सतत विकास, गरीबी अन्तर्विष्ट जनसांख्यिकीय, सामाजिक क्षेत्र के इनिशियेटिव आदिः

भ्यर्थियों की जानकारी का परीक्षण जनसंख्या, पर्यावरण तथा नगरीकरण की समस्याओं तथा उनके सम्बन्धों के परिप्रेक्ष्य में किया जायेगा।

पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी सम्बन्धी सामान्य विषय जैव विविधता एवं जलवायु परिवर्तनः

इस विषय में विषय विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं है। अभ्यर्थियों से विषय की सामान्य जानकारी अपेक्षित है।

सामान्य विज्ञानः

सामान्य विज्ञान के प्रश्न दैनिक अनुभव तथा प्रेक्षण से सम्बन्धित विषयों सहित विज्ञान के सामान्य परिबोध एवं जानकारी पर आधारित होंगे, जिसकी किसी भी सुशिक्षित व्यक्ति से अपेक्षा की जा सकती है, जिसने वैज्ञानिक विषयों का विशेष अध्ययन नहीं किया है।

UPPSC Syllabus – UPPSC PCS Mains Exam Pattern

UPPSC PCS Mains Exam Pattern नीचे दिया गया है। इस परीक्षा में प्राप्त अंकों को अंतिम रूप से उम्मीदवारों के चयन के लिए माना जाएगा। यूपीपीएससी मेन्स परीक्षा में वर्णनात्मक आठ पेपर शामिल हैं। प्रत्येक पेपर के लिए परीक्षा की अवधि 3 घंटे होगी।

यूपीपीएससी मेन्स परीक्षा कुल 1500 अंकों की होगी। नीचे दी गई सारणी की मदद से आप UPPSC PCS Mains Exam Pattern को और भी बेहतर तरीके से समझ सकते हैं।

परीक्षा का नामUPPSC PCS Mains (लिखित) परीक्षा
पेपर्स की संख्या – 8सामान्य हिंदी

निबंध

सामान्य अध्ययन -I

सामान्य अध्ययन -II

सामान्य अध्ययन -III

सामान्य अध्ययन -IV

वैकल्पिक विषय पेपर -1

वैकल्पिक विषय पेपर -2
Duration of Examसारे पेपर्स 1 सप्ताह के अंदर आयोजित कराए जाएंगे।

मॉर्निंग सेशन – 9.30 AM – 12.30 AM तक

आफ्टरनून सेशन – 2 PM – 5 PM तक
अंकसामान्य हिंदी – 150 अंक
निबंध – 150 अंक

सभी सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र और वैकल्पिक विषय के पेपर 200 अंकों के होंगे

कुल – 1500 अंक
परीक्षा का प्रकारऑफ़लाइन (पेन-पेपर)
प्रश्न पत्र का प्रकारनिबंध / वर्णनात्मक प्रकार
वैकल्पिक विषयनए यूपीपीएससी परीक्षा पैटर्न के अनुसार, उम्मीदवारों को दी गई सूची से अब केवल एक वैकल्पिक विषय (2 प्रश्नपत्र) का चयन करना होगा।

UPPSC PCS Syllabus – वैकल्पिक विषयों की सूची

  • कृषि
  • वनस्पति विज्ञान
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  • प्राणि विज्ञान
  • कानून
  • विद्युत अभियन्त्रण
  • रसायन विज्ञान
  • पशुपालन
  • अंग्रेजी साहित्य
  • भौतिकी और पशु चिकित्सा विज्ञान
  • उर्दू साहित्य
  • गणित
  • आंकड़े
  • हिंदी साहित्य
  • भूगोल
  • प्रबंध
  • संस्कृत साहित्य
  • अर्थशास्त्र
  • राजनीति विज्ञान
  • व्यापार
  • समाजशास्त्र अंतर्राष्ट्रीय संबंध लेखा
  • दर्शन
  • इतिहास
  • सार्वजनिक प्रशासन
  • भूगर्भशास्त्र
  • मनुष्य जाति का विज्ञान
  • चिकित्सा विज्ञान
  • मनोविज्ञान
  • असैनिक अभियंत्रण

वैकल्पिक विषयों से सम्बंधित ज्यादा जानकारियों हेतु आप आधिकारिक वेबसाइट पर भी विजिट कर सकते हैं।

UPPSC Syllabus –

  • काम्प्रिहेन्सन (विस्तारीकरण)
  • अन्तर्वैयक्तिक क्षमता जिसमें सम्प्रेषण कौशल भी समाहित होगा।
  • तार्किक एवं विश्लेषणात्मक योग्यता।
  • निर्णय क्षमता एवं समस्या समाधान।
  • सामान्य बौद्धिक योग्यता।
  • प्रारम्भिक गणित हाईस्कूल स्तर तक- अंकगणित, बीजगणित, रेखागणित व सांख्यिकी।
  • सामान्य अंग्रेजी हाईस्कूल स्तर तक।
  • सामान्य हिन्दी हाईस्कूल स्तर तक।
  • प्रारम्भिक गणित (हाईस्कूल स्तर तक) के पाठ्यक्रम में सम्मिलित किये जाने वाले विषय

1. अंकगणितः

  1. संख्या पद्धतिः प्राकृतिक, पूर्णांक, परिमेय-अपरिमेय एवं वास्तविक संख्यायें, पूर्णांक संख्याओं के विभाजक एवं अविभाज्य पूर्णांक संख्यायें। पूर्णांक संख्याओं का लघुत्तम समापवत्र्य एवं महत्तम समापवत्र्य तथा उनमें सम्बन्ध।
  2. औसत
  3. अनुपात एवं समानुपात
  4. प्रतिशत
  5. लाभ-हानि
  6. ब्याज- साधारण एवं चक्रवृद्धि
  7. काम तथा समय
  8. चाल, समय तथा दूरी

2. बीजगणित:

(1) बहुपद के गुणनखण्ड, बहुपदों का लघुत्तम समापवत्र्य एवं महत्तम समापवत्र्य एवं उनमें सम्बन्ध, शेषफल प्रमेय, सरल युगपत समीकरण, द्विघात समीकरण
(2) समुच्चय सिद्धान्तः समुच्चय, उप समुच्चय, उचित उपसमुच्चय, रिक्त समुच्चय, समुच्चयों के बीच संक्रियायें (संघ, प्रतिछेद, अन्तर, समिमित अन्तर), बेन-आरेख

3. रेखागणितः

(1) त्रिभुज, आयत, वर्ग, समलम्ब चतुर्भुज एवं वृत्त की रचना एवं उनके गुण सम्बन्धी प्रमेय तथा परिमाप एवं उनके क्षेत्रफल,
(2) गोला, समकोणीय वृत्ताकार बेलन, समकोणीय वृत्ताकार शंकु तथा धन के आयतन एवं पृष्ठ क्षेत्रफल।

4. सांख्यिकीः आंकड़ों का संग्रह, आंकड़ों का वर्गीकरण, बारम्बारता, बारम्बारता बंटन, सारणीयन, संचयी बारम्बारता, आंकड़ों का निरूपण, दण्डचार्ट, पाई चार्ट, आयत चित्र, बारम्बारता बहुभुज, संचयी बारम्बारता
वक्र, केन्द्रीय प्रवृत्ति की माप- समान्तर माध्य, माध्यिका एवं बहुलक।

General English Upto Class X Level

1. Comprehension
2. Active Voice and Passive Voice
3. Parts of Speech
4. Transformation of Sentences
5. Direct and Indirect Speech
6. Punctuation and Spellings
7. Words meanings
8. Vocabulary & Usage
9. Idioms and Phrases
10. Fill in the Blanks

सामान्य हिन्दी (हाईस्कूल स्तर तक) के पाठ्यक्रम में सम्मिलित किये जाने वाले विषय

(1) हिन्दी वर्णमाला, विराम चिन्ह
(2) शब्द रचना, वाक्य रचना, अर्थ
(3) शब्द-रूप
(4) संधि, समास
(5) क्रियायें
(6) अनेकार्थी शब्द
(7) विलोम शब्द
(8) पर्यायवाची शब्द
(9) मुहावरे एवं लोकोक्तियां
(10) तत्सम एवं तद्भव, देशज, विदेशी (शब्द भंडार)
(11) वर्तनी
(12) अर्थबोध
(13) हिन्दी भाषा के प्रयोग में होने वाली अशुद्धियाँ
(14) उ0प्र0 की मुख्य बोलियाँ

UPPSC PCS Syllabus In Hindi – कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न

यूपीपीएससी पीसीएस मेन्स परीक्षा में कितने वैकल्पिक विषय हैं?

उम्मीदवार 29 विषयों की सूची में से वैकल्पिक पेपर के लिए विषय चुन सकते हैं

यूपीपीएससी पीसीएस भर्ती 2020 की चयन प्रक्रिया क्या है?

यूपीपीएससी पीसीएस चयन प्रक्रिया में शामिल हैं – प्रारंभिक, मेन्स और साक्षात्कार।

What is exam pattern of UPPSC PCS Prelims 2020 exam?

In UPPSC PCS Prelims 2020 exam, two papers will be conducted – GS Paper I and GS Paper II. In GS Paper 1, Questions will be asked from General Knowledge, Current Affairs, History, Polity, Geography, Environment & Ecology and General Science. Paper II is of CSAT

Which is the current PCS exam pattern followed in the UPPSC exam

PCS Exam Pattern changed in 2018 and now UPPSC syllabus 2021 is based on that exam pattern.

How many subjects are in UPPSC syllabus for PCS Exam (Mains)?

As per the new PCS Exam Pattern, there are 4 GS papers, 2 Optional Papers (1 subject), Essay and General Hindi paper

1 thought on “UPPCS PCS Syllabus & Exam Pattern in Hindi 2021”

  1. Pingback: उत्तर प्रदेश UPPSC सीधी भर्ती✅विभिन्न पद ऑनलाइन फॉर्म 2021

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top