PM Kusum Yojana: सोलर पंप पर मिलेगी 90 प्रतिशत सब्सिडी

किसानों को सरकार से मिलेगी आर्थिक मदद, जानें आवेदन की पूरी प्रक्रिया

कृषि के क्षेत्र में लगातार आ रही नई चुनौतियों को देखते हुए केन्द्र सरकार की ओर से किसानों के हित में कई महत्वाकांक्षी योजनाएं चलाई गई हैं। इन योजनाओं का लाभ किसानों को दिया जाता है। पीएम कुसुम योजना केन्द्र सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है, जिसके तहत किसानों को सोलर पंप लगाने के लिए बड़े पैमाने पर सरकारी सहायता मिलती है।

इसी क्रम में झारखंड सरकार ने राज्य में कृषि की अपार संभावनाओं को देखते हुए किसानों को खेती-बाड़ी में सिंचाई से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या न हो, इसके लिए किसानों को पीएम कुसुम योजना के तहत सोलर पंप सेट दिया जा रहा है। अब राज्य के किसानों को सिंचाई से संबंधित समस्या नहीं होगी, क्योकि राज्य के किसानों को योजना के तहत 90 प्रतिशत सब्सिडी पर सोलर पंप दिया जाएगा। किसान को बस 10 प्रतिशत राशि देनी होगी। इस योजना का लाभ उठाकर किसान बेहतर उत्पादन कर सकते हैं। साथ ही अपनी कमाई को बढ़ाकर अतिरिक्त लाभ कमा सकते हैं, तो आइए ट्रैक्टरगुरू की इस पोस्ट के माध्यम से झारखंड के किसानों को पीएम कुसुम योजना के तहत मिलने वाले लाभ और आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानते हैं।

सोलर पंप पर 90 प्रतिशत सब्सिडी

कुसुम योजना के अंतर्गत किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पैनल की सुविधा दी गयी है। इस योजना के अंतर्गत सोलर पंप लगाने में आने वाले खर्चे की कुल लागत का 90 प्रतिशत व्यय सरकार द्वारा वहन की जाएगी। शेष 10 प्रतिशत लागत का वहन स्वयं किसानों द्वारा किया जाएगा। केंद्र सरकार और राज्य सरकार 30-30 प्रतिशत की सब्सिडी प्रदान करेंगे। 30 प्रतिशत तक ऋण की सुविधा बैंकों द्वारा दी जाएगी। कृषि निदेशालय झारखंड द्वारा किए गए ट्विट के मुताबिक किसान इस संबंध में किसी प्रकार की जानाकारी हासिल करना चाहते हैं या शिकायत करना चाहते हैं, तो किसान कॉल सेंटर के निःशुल्क नम्बर 1800123136 पर कार्य दिवास सोमवार से शनिवार सुबह 10 बजे शाम 5 बजे तक कॉल कर योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं या अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। 

सोलर पंप किसानों की आय का साधन बनेगा

सौर ऊर्जा के प्रति शहरी लोगों में तो अब रुझान बढ़ने लगा है, मगर किसानों में पिछले तीन-चार सालों में आई जागरूकता ने उन्हें बिजली उत्पादन के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बनने की राह दिखा दी है। प्रधानमंत्री किसान सौर ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (पीएम कुसुम) के अंतर्गत किसानों के खेतों में अब बिजली पैदा हो रही है। सोलर पंप किसानों की आय का साधन बनेगा। सोलर पैनल से उत्पन्न होने वाली बिजली का उपयोग सिंचाई करने के साथ-साथ अतिरिक्त बिजली को विद्युत वितरण ग्रिड को बेच सकेंगे। जो उनके कमाई का दूसरा साधन बनेगा। साथ ही उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। योजना के तहत किसान अपने खेतों में सोलर पंप सेट लगा सकते हैं। किसान सोलर पंप सेट को बंजर जमीन पर भी लगा सकते हैं। सोलर पैनल 25 वर्षों तक चलेगा और इसका रखरखाव भी बहुत ही आसानी से किया जा सकेगा।

ग्रिड से जुड़ी बिजली पर नही रहना होगा निर्भर

पीएम कुसुम योजना के अंतर्गत सरकार राज्य के किसानों को खेती-बाड़ी में सिंचाई की सुविधा देने के लिए सोलर पंप का लाभ मिलेगा। किसानों को कृषि कार्यों के लिए ग्रिड से जुड़़ी बिजली पर निर्भर रहने से राहत देगा। योजना के तहत राज्य के किसानों को सौर ऊर्जा से चलने वाले सिंचाई पंप सेट उपलब्ध कराए जाएंगे। सोलर पैनल किसानों के खेतों में स्थापित किए जाएंगे जिससे वह अपने आईपी सेट के लिए बिजली पैदा करने में मदद मिल सके। पीएम कुसुम योजना से ग्रामीण किसानों को काफी फायदा होगा। क्योंकि कई बार ग्रिडी से जुड़ी बिजली के इंतजार में किसान सही समय पर सिंचाई का कार्य नहीं कर पाते हैं। साथ ही सिंचाई के लिए उन्हें डीजल पर अधिक खर्च करना पड़ता है। झारखंड के किसानों को अब सिंचाई से संबंधित समस्या नहीं होगी, क्योंकि राज्य के किसानों को पीएम कुसुम योजना के अंतर्गत सोलर पंप का लाभ दिया जा रहा है। जिससे किसान समय पर सिंचाई कर पाएंगे।

सोलर पंप के आवेदन हेतु नियम, शर्ते एवं दिशा-निर्देश 

  • यह आवेदन कृषि भूमि की सिंचाई के लिए है। सोलर पम्प स्थापना हेतु ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जाते हैं, जिसमें भारत शासन व झारखंड शासन द्वारा अनुदान दिया जा रहा है। इस योजना का लाभ एक परिवार में एक ही व्यक्ति को मिलेगा। योजना के लिये राज्‍य के वे सभी कृषक पात्र होंगे, जिनके पास कृषि हेतु विद्युत कनेक्‍शन नहीं है।
  • सहकारी समितियां, पंचायत, किसानों का समूह, किसान उत्पादन संगठन एवं जल उपभोगता एसोसिएशन सोलर पम्प संयंत्र की स्‍थापना के लिये आवेदक कर सकते है।
  • कृषक के पास सिंचाई का स्थाई स्त्रोत होना चाहिए एवं सोलर पम्प हेतु वांछित जल संग्रहण ढाँचे की आवश्यकता अनुसार व्यवस्था या उपयोग होना चा‍हिए।

सोलर पम्प सब्सिडी हेतु जरूरी दस्तावेज

प्रधामंत्री कुसुम योजना का आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेजों के रूप में 

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र 
  • बैंक खाता पासबुक 
  • भूमि के दस्तावेज, 
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • राशन कार्ड
  • पंजीकरण की कॉपी 
  • ऑथोराइजेशन लेटर 
  • चार्टर्ड अकाउंटेंट द्वारा जारी नेटवर्थ सर्टिफिकेट (विकासकर्ता के माध्यम से प्रोजेक्ट विकसित करने की स्थिति में) 
  • मोबाइल नंबर आदि की आवश्यकता होगी।

सोलर पम्प सब्सिडी पर लेने के लिए यहां करें आवेदन

  • झारखंड का कोई भी किसान जो कुसुम योजना का लाभ लेना चाहते है, उन्हें ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा। 
  • इसके लिए आवेदक किसान को प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत सोलर पंप लगवाने के लिए आधिकारिक वेबसाइट https://mnre.gov.in/ पर जाना होगा।
  • योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद योजना का होम पेज खुल जाएगा। इस होम पेज पर योजना संबंधित सभी दिशा-निर्देश ध्यान से पढ़ें।
  • दिशा-निर्देशों के माध्यम से आपको पंजीकरण करने में सहायता मिलेगी। 
  • होम पेज पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी सही से भरें, फिर मांगी गयी सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करें और उसके बाद सबमिट के बटन पर क्लिक करें।

PM KUSUM YOJANA 2022-23 : कुसुम योजना के तहत कृषि में सोलर पंपों पर 75 प्रतिशत सब्सिडी

1 thought on “PM Kusum Yojana: सोलर पंप पर मिलेगी 90 प्रतिशत सब्सिडी”

Leave a Comment